टिलर या कल्टीवेटर (Tiller or Cultivator )

कृषि मानव जीवन का आधार है इस कार्य को व्यवस्थित रूप से करने के लिए आधुनिक उपकरणों की आवश्यकता होती है जिनमें टिलर Tiller या Cultivator कल्टीवेटर प्रमुख है इसका निर्माण कई सारे हल के लेयर से किया जाता है, कृषि कार्यों में इसका उपयोग ट्रैक्टर की सहायता से होता है

टिलर या कल्टीवेटर की विशेषताएं (Features of Tiller or Cultivator)

टिलर या कल्टीवेटर की निम्नलिखित विशेषताएं हैं

  • टिलर या कल्टीवेटर ट्रैक्टर के द्वारा चलाया जाता है
  • इसका उपयोग मिट्टी के तत्वों को पलटने के लिए किया जाता है
  • टिलर खेत की जुताई करने में उपयोगी हैं 
  • यह मिट्टी की उर्वरा शक्ति को बढ़ाने में सहायक हैं 
  • इसकी रख रखाव में प्रायः कम खर्च लगता है
  • यह खेतों की नमी बनाए रखने में कारगर होता है
  • टिलर कृषक मित्र कीट को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाता है
  • बार-बार टिलर से जुताई से खेत की मिट्टी में नाइट्रोजन की क्षमता में वृद्धि होती है 
  • यह खरपतवार को नियंत्रित करने में भी सहायक है 
  • यह खेत की मिट्टी को खोलने व बिजिये कार्यों में भी उपयोगी है

अतः हम कह सकते हैं कि लेयर कल्टीवेटर कृषि कार्यों में भी मैं बहु उपयोगी कृषि उपकरण (farm equipment) है